Home Bihar News बेगुसराय के तेघड़ा प्रखंड में जिला का सबसे पहला प्रखंड स्तरीय बाल...

बेगुसराय के तेघड़ा प्रखंड में जिला का सबसे पहला प्रखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिति गठन

सभी बाल विकास केन्द्रित योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए, सभी जनप्रतिनिधियों को बाल संरक्षण समिति कि गाइड लाइन पुस्तिका एवं परवरीश योजना का फार्म उपलब्ध कराया एवं तेघडा प्रखंड को बेगुसराय जिला का रोल माडल प्रखंड बनाने की प्रयासों पर चर्चा किया।

0
बेगुसराय के तेघड़ा प्रखंड

हरिओम कुमार। दिनांक 11 जनवरी 2022 को तेघड़ा प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित अटल-कलाम सभागार भवन में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए, अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के संयुक्त भागिदारी से सफलतापूर्वक प्रखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिती का गठन किया गया।

शिव शंकर पाठक जिला समन्वयक सेव द चिल्ड्रन/युनिसेफ ने सभी पदाधिकारियों एवं नव-निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को नव वर्ष की शुभकामनाएं देते हुए सभी का स्वागत किया। अध्यक्ष महोदय कि सहमति लेकर श्री पाठक ने कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए, बाल संरक्षण समिती के ऊपर विस्तार से प्रकाश डालते हुए, समिती का वार्ड स्तर से लेकर पंचायत, प्रखंड एवं जिला स्तर पर समिती के गठन का प्रावधान, समिती के माननिय सदस्य एवं नामित पदाधिकारी, समिती सदस्यों का कार्यदायित्व, एवं समिती का इंटरकनेक्शन जो व्यापक बाल हितों और बाल अधिकारों का रक्षक एवं बाल सुरक्षा के विभिन्न पहलुओं को केंद्र में रख कर कार्य करेगी।

इसके साथ ही साथ सभी बाल विकास केन्द्रित योजनाओं की विस्तार से जानकारी देते हुए, सभी जनप्रतिनिधियों को बाल संरक्षण समिति कि गाइड लाइन पुस्तिका एवं परवरीश योजना का फार्म उपलब्ध कराया एवं तेघडा प्रखंड को बेगुसराय जिला का रोल माडल प्रखंड बनाने की प्रयासों पर चर्चा किया। प्रखंड को रोल माडल बनने के दिशा में उपस्थित सभी जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने अपने-अपने स्तर पर समस्त प्रयासों को धरातल पर संपादित करने और कराने का पुरजोर समर्थन से अपनी इच्छा शक्ति व्यक्त किया।

प्रखंड विकास पदाधिकारी सह अध्यक्ष बाल संरक्षण समिती श्री संदीप पांडे जी ने कोविड प्रोटोकॉल पर चर्चा करते हुए विभागीय पत्रचार के तहत सभी ग्राम पंचायतों में बाल संरक्षण समिती का यथाशीघ्र गठन एवं क्रियान्वयन एवं आपसी सहयोग समन्वयन के माध्यम से प्रखंड को रोल माडल बनाने की अपील किया तथा बाल अधिकारों एवं सुरक्षा को बिषयों पर अत्यंत गंभिरता लेने एवं राज्य सरकार के प्रयासों पर प्रकाश डाला। बाल विकास परियोजना पदाधिकारी सह-सचिव बाल संरक्षण समिती अर्चना कुमारी ने आई सी डी के तहत किए जा रहे प्रयासों के बारे जानकारी दिया।

जिला बाल संरक्षण इकाई से आये संदिप कुमार ने स्पांसरशिप योजना एवं परवरीश योजना पर जानकारी दिया। तेघड़ा थाना प्रभारी श्री संजय कुमार ने जनप्रतिनिधियों के पुर्ण सहयोग एवं सबकी सक्रियता एवं प्रयासों से आदर्श प्रखंड बनाने के दिशा में महत्वपूर्ण बातों को रखा।

बैठक में जिला पार्षद तेघड़ा प्रवीण शेखर, उप-प्रमुग गुड़िया देवी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी तेघड़ा, बि पि एम जिविका सहित सभी ग्राम पंचायतों के मुखिया एवं पंचायत समिती सदस्यों ने भी अपने विचारों एवं सुझावों को रखा। सर्वसहमति से यथाशीघ्र सभी पंचायतों एवं वार्डों में बाल संरक्षण समिती का गठन एवं क्रियान्वयन का निर्णय लिया गया तथा बाल अधिकारों एवं संरक्षण के मुद्दों पर चर्चा-परिचर्चा एवं अन्य माध्यमों से सामाजिक जागरूकता लाने का संकल्प लिया गया। बैठक में धर्मेन्द्र कुमार एवं मनोज कुमार निराला प्रखंड समन्वयक सेव द चिल्ड्रेन/युनिसेफ ने सक्रिय भुमिका निभाई।

Exit mobile version