Vaastu Aastha

नमक का जमीन पर गिरना शुभ या अशुभ? जानें

नमक का इस्तेमाल भारतीय घरों में खाने में किया जाता है। कई बार नमक का इस्तेमाल (Use of Salt) करते समय यह हाथ से गिर जाता है। ऐसे में बहुत से लोगों के मन में यह प्रश्न आता है कि नमक का जमीन पर गिरना (Namak ka Jameen par Girna) शुभ होता है या अशुभ? इस लेख में इसी बात पर चर्चा करेंगे कि नमक का जमीन पर गिरना (Namak ka Jameen par Girna) शुभ या अशुभ होता है।

नमक कितने प्रकार के होते हैं? Types of Salt

नमक दो प्रकार का होता है। ऐक सेंधा नमक (Sendha Namak) और दूसरा साधारण नमक (Sadharan Namak)। सेंधा नमक को पवित्र माना जाता है। पुराणों में कहा गया है कि मनुष्य को सेंधा नमक का सेवन (Use of Sendha Namak) करना चाहिए। हालांकि लोग आजकल साधारण नमक (Normal Salt) का इस्तेमाल ज्यादा करते हैं।

नमक की प्राप्ति ज्यादातर समुद्र (Ocean) से होती है। लेकिन जमीन के नीचे से भी नमक प्राप्त किया जाता है। समुद्र का जल (Ocean Water) नमक की वजह से ही खारा होता है। नमक से जुड़े कई शकुन-अपशकुन शास्त्रों में मिलता है।

नमक को जमीन पर गिराना – Namak ka Jameen par Girna

नमक का गिरना (Namak ka Girna) हमेशा अशुभ ही माना जाता है। यदि आपके हाथ से किसी कारणवश नमक गिर गया है तो यह एक अशुभ संकेत है। ऐसा माना जाता है कि नमक गिराने से फल (Namak Girne ka Phal) भोगना पड़ता है। अगले जन्म में नमक को पलकों या जीभ से उठाना पड़ता है।

नमक का हाथ से गिरना या जमीन पर गिरना कमजोर शुक्र (Venus Planet) और चंद्रमा (Moon) का संकेत होता है। यदि आपके हाथ से नमक गिर जाए तो आपको मानसिक परेशानियों से गुजरना पड़ सकता है। इसके अलावा आपका अपमान होने का भी संकेत देता है नमक का जमीन पर गिरना।

Recent Posts

गुड़ खाने के फायदे: इन फायदों को जानकर आप गुड़ खाना शुरू कर देंगे

गुड़ खाना किसे अच्छा नहीं लगता है। चीनी के मुकाबले गुड़ खाने से कई फायदे होते हैं। डायबिटीज के मरीजों को गुड़ का सेवन करने…

बिहार: मंदिर के देवता के नाम होगा मंदिरों और मठों की जमीन का स्वामित्व

पटना। बिहार के मंदिरों एवं मठों के नाम पर दान में दी गयी जमीन का स्वामित्व मंदिर के ही देवता के नाम पर होगा। इसको…

गर्म पानी पीने के इन फायदे से अनजान होंगे आप, जरूर जानें

गर्म पानी पीने के कई आश्चर्यजनक फायदे होते हैं। ठंडा पानी पीने के बजाय हमेशा गर्म पानी पीना चाहिए। शरीर में यदि पानी की मात्रा…

This website uses cookies.