Bihar Politics

पप्पू यादव का ऑपरेशन एम्बुलेंस – अब छपरा के बाद दरभंगा में किया नया खुलासा

बिहार में पिछले दो दिनों से जन अधिकार पार्टी के अध्यक्ष पप्पू यादव का ऑपरेशन एम्बुलेंस चल रहा है। पहले सारण जिले में उन्होंने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूड़ी के कार्यालय से कई सारे एम्बुलेंस का भंडोफोड़ किया। मामला सांसद निधि से खरीदे गए एम्बुलेंस को छिपाकर रखने का खुलासा किया गया।

अब पप्पू यादव ने दरभंगा जिले में इसी ऑपरेशन के तहत नया खुलासा किया है। जन अधिकार पार्टी सुप्रीमो के ट्वीट से एक बार फिर बिहार की सियासत तेज हो गई है। पप्पू यादव ने DMCH दरभंगा के खेल मैदान के पास की तस्वीर ट्विटर पर शेयर की है जिसमें कई एम्बुलेंस को खड़ा देखा जा सकता है।

पप्पू यादव ने तस्वीर को ट्वीट करते हुए लिखा है – यह सब हाईटेक लाइफ सपोर्ट सिस्टम, एक्सरे, जेनेरेटर युक्त एम्बुलेंस है। दरभंगा के MP रहे कीर्ति झा आजाद जी के सांसद फंड से खरीदा गया था, हरेक पर लागत 32 लाख था। इसका रजिस्ट्रेशन भी नहीं हुआ है। बिना उपयोग के वर्षों से सड़ने छोड़ दिया गया है। DMCH दरभंगा के खेल मैदान बेंता ओपी के पास!

पप्पू यादव ने आगे लिखा है- यहां जिम्मेदारी सरकार की है, जिला प्रशासन की है, तत्कालीन सांसद ने जनहित में इतना बढ़िया एम्बुलेंस खरीदकर सौंप दिया। संचालन प्रशासन को करना था तो उसने सड़ने छोड़ दिया। बाकी अभी के सांसद तो कमाल के हैं ही।

बता दें कि बीते 7 मई को पप्पू यादव ने सारण जिले के अमनौर के पास एक कैंपस में छापा मारा था। वहां पर सांसद राजीव प्रताप रूड़ी के सांसद फंड से खरीदे गए 30 से ज्यादा एम्बुलेंस को छिपाकर रखा गया था। इस खुलासे के बाद बिहार की सियासत में भूचाल आ गया था। बता दें कि बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने के बाद 15 मई तक राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है।

Recent Posts

गुड़ खाने के फायदे: इन फायदों को जानकर आप गुड़ खाना शुरू कर देंगे

गुड़ खाना किसे अच्छा नहीं लगता है। चीनी के मुकाबले गुड़ खाने से कई फायदे होते हैं। डायबिटीज के मरीजों को गुड़ का सेवन करने…

नमक का जमीन पर गिरना शुभ या अशुभ? जानें

नमक का इस्तेमाल भारतीय घरों में खाने में किया जाता है। कई बार नमक का इस्तेमाल (Use of Salt) करते समय यह हाथ से गिर…

बिहार: मंदिर के देवता के नाम होगा मंदिरों और मठों की जमीन का स्वामित्व

पटना। बिहार के मंदिरों एवं मठों के नाम पर दान में दी गयी जमीन का स्वामित्व मंदिर के ही देवता के नाम पर होगा। इसको…

This website uses cookies.