नीतीश कुमार पर टिप्पणी रिया चक्रवर्ती को पड़ा भारी, डीजीपी ने याद दिलाई ‘औकात’

0
47
सुशांत सिंह राजपूत
सुशांत सिंह राजपूत केस

पटना। दिवंगत अभिनेता और बिहार निवासी सुशांत सिंह राजपूत के केस को अब सीबीआई अपने तरीके से जाँच करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत का केस सीबीआई को सौंप दिया। कोर्ट के इस फैसले पर बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि यह सत्य की जीत है।

बिहार के डीजीपी ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं। ये अन्याय के विरुद्ध न्याय की जीत है। यह 130 करोड़ लोगों के भावनाओं की जीत है। अब लोगों को उम्मीद बनी है कि सुशांत केस की सच्चाई अब सामने आएगी। यह पूरे देश के लिए बहुत बड़ी खबर है।

यह भी पढ़ें -   हजारीबाग हत्याकांड: भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य शशांक राज ने की सख्त कार्रवाई की मांग

डीपीजी ने मुंबई पुलिस के आरोपों का जिक्र करते हुए कहा कि हम लोगों पर आरोप लगाए जा रहे थे कि आपने क्यों केस किया। हमको जांच नहीं करने दिया जा रहा था। हमने आईपीएस अफसर को भेजा तो उसे कैदी की तरह रात में क्वारनटीन कर लिया गया। इससे ऐसा लगा कि कोई न कोई गड़बड़ है।

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि अब इसका नतीजा आएगा और निश्चित आएगा। यह केवल एक परिवार की लड़ाई नहीं है। यह हिन्दुस्तान की जनता की लड़ाई है। यह बहुत हाई प्रोफाइल केस है। कई लोगों को पोल खुल जाने का डर सता रहा है। ऐसे में सीबीआई की जांच में सबकुछ सच सामने आएगा।

यह भी पढ़ें -   जीतनराम मांझी की पार्टी हम ने BJP से कहा- केंद्रीय NDA से करे LJP को बाहर

दूसरी तरफ बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती के बयानबाजी पर डीजीपी ने कहा कि बिहार के सीएम पर कमेंट करने की औकात रिया चक्रवर्ती की नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं इस बात को दोहरा रहा हूं कि रिया चक्रवर्ती की हैसियत नहीं है कि वो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर टिप्पणी करे।

डीजीपी ने कहा कि दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के केस में न्याय मिलने की उम्मीद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सपोर्ट के कारण ही बनी है।