What is the full form of ATM? एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है?

What is the full form of ATM? ATM का Full Form ऑटोमेटिक टेलर मशीन (Automated Teller Machine) होता है। इसके द्वारा ग्राहक पैसा निकाल सकते हैं।

0
26
Full Form of ATM
Full Form of ATM

What is the full form of an ATM? एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है? आजकल कोई ऐसा व्यक्ति नहीं है जिसे एटीएम के बारे में नहीं पता होता है। सबको पता है कि एटीएम से पैसे निकाले जाते हैं। एटीएम वह मशीन है जिसने बैंकिंग सेवा को बहुत ही आसान कर दिया है। लेकिन एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है यह बहुत कम लोगों को पता होता है।

भारत के शहरी क्षेत्रों में आपको एटीएम हर जगह मिल जाता है लेकिन अभी भी ग्रामीण क्षेत्रों में एटीएम मशीन का अभाव है। पैसा निकालने के लिए घंटों बैंक में समय व्यतीत करने से अच्छा है कि आप एटीएम से तुरंत पैसे निकाल सकते हैं। एटीएम आने के बाद बैंकिंग सेक्टर में बड़ा बदलाव आया है और अब लोगों का समय भी बचता है और बैंकिंग का काम भी आसान हो गया है।

आइए जानते हैं कि एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है और एटीएम के क्या-क्या फायदे होते हैं। एटीएम हमारे लिए क्यों जरूरी सेवा बन गई है और यदि एटीएम ना हो तो हमारे जीवन पर क्या प्रभाव पड़ सकता है। एटीएम के माध्यम से आप एक बार में ₹10000 निकाल सकते हैं। हालांकि कई बैंकिंग सेवा में अमाउंट अलग अलग हो सकता है।

What is Full Form of ATM?

एटीएम का फुल फॉर्म क्या होता है? ATM का Full Form ऑटोमेटिक टेलर मशीन (Automated Teller Machine) होता है। हिंदी में इसे स्वचालित गणक यंत्र कहा जाता है। ऑटोमेटिक टेलर मशीन का मतलब होता है वैसा मशीन जो खुद अपने अनुसार गणना करता है। भारत में सबसे पहले 1987 में एटीएम की शुरुआत हुई थी।

यह भी पढ़ें -   PIN Full Form in Hindi - ATM PIN का क्या मतलब होता है?

ATM क्या है और यह कैसे काम करता है?

एटीएम एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जिसका इस्तेमाल हम लोग पैसे निकालने के लिए करते हैं। इसके जरिए कोई भी बैंक धारक जिनका बैंक में अकाउंट है वह पैसा निकाल सकता है। इसके साथ-साथ इससे पैसे ट्रांसफर भी किया जा सकता है। एटीएम मशीन से चेक बुक अप्लाई करना, एटीएम पिन चेंज करना, एटीएम पिन जनरेट करना, एटीएम टू एटीएम पैसे ट्रांसफर करना, इत्यादि प्रकार के कार्य किए जाते हैं।

एटीएम मशीन से पैसा निकालने के लिए आपको एक कार्ड की जरूरत होती है जिसे एटीएम कार्ड कहा जाता है। एटीएम कार्ड प्लास्टिक का या फिर मेटल का हो सकता है। एटीएम कार्ड में एक मैग्नेटिक कोड होता है जिसमें ग्राहक की सभी जानकारियां मौजूद होती है। जैसे ही एटीएम के अंदर एटीएम कार्ड डाला जाता है, एटीएम मशीन ग्राहक की सभी जानकारियां वेरीफाई करता है। उसके बाद यूजर्स को पैसे निकाल कर देता है।

एटीएम का आविष्कार कब हुआ था?

एटीएम का आविष्कार John Shepherd-Barron के द्वारा 1960 में किया गया था। एटीएम मशीन का सबसे पहले प्रयोग लंदन के बार्केले बैंक ने 1967 में किया था। आज एटीएम पूरी दुनिया में फैल चुका है और लोगों को सेवाएं दे रहा है। एटीएम मशीन आने से बैंक के ऊपर अनावश्यक रूप से दबाव कम हुआ है और लोगों का समय भी बचा है।

यह भी पढ़ें -   UKG ka full form in hindi - UKG का फुलफॉर्म क्या होता है?

एटीएम मुख्यता अपने दो प्रकार के डिवाइसों की सहायता से काम करता है। एटीएम मशीन में दो डिवाइस लगे होते हैं जो यूजर्स द्वारा दिए गए इनपुट के अनुसार आउटपुट प्रदान करता है। एटीएम मशीन के अंदर दो डिवाइस लगे होते हैं।

  1. इनपुट डिवाइस (Inpute Device)
  2. आउटपुट डिवाइस (Outpute Device)

इनपुट डिवाइस- इनपुट डिवाइस के मदद से एटीएम के अंदर ग्राहकों के द्वारा दिए गए संकेतों पर काम किया जाता है। इनपुट डिवाइस में कार्ड रीडर मौजूद होता है जो एटीएम कार्ड के अंदर दर्द जानकारी को एकत्रित करता है और उसे बैंक के सेंट्रल कंप्यूटर से वेरीफाई करता है। उसके बाद यह ग्राहक के डाटा के अनुसार उनके खाते कनेक्ट कर पैसे निकालने में मदद करता है।

आउटपुट डिवाइस- एटीएम के अंदर मौजूद आउटपुट डिवाइस पैसा निकालने में मदद करता है। और पुट डिवाइस में स्क्रीन, स्पीकर, कैश डिस्पेंसर, रिसिप्ट प्रिंटर होते हैं। एटीएम का आउटपुट डिवाइस ग्राहक द्वारा दिए गए इनपुट के अनुसार कार्य करता है और पैसे निकालने के साथ-साथ यह बैंक अकाउंट में मौजूद बैलेंस को भी बताता है।

यह भी पढ़ें -   LKG ka full form in hindi - LKG का फुलफॉर्म क्या होता है?

एटीएम मशीन के क्या-क्या फायदे हैं?

इसमें कोई शक नहीं है कि एटीएम मशीन आने से लोगों की जिंदगी आसान हुई है। एक एटीएम मशीन से पैसे निकालने के अलावा, एटीएम पिन चेंज करना, नया एटीएम पिन जनरेट करना इत्यादि कई प्रकार की सुविधाएं दी जाती है।

एटीएम मशीन की मदद से 24 घंटे पैसे निकाल सकते हैं। यह सेवा 24 * 7 उपलब्ध होता है और बैंकों की तरह लंबी लाइनों में खड़ा नहीं रहना पड़ता है। पढ़ें- बेल का पौधा या पेड़ किस दिशा में लगाना चाहिए? जानें घर में लगाना चाहिए या नहीं

एटीएम मशीन से पैसे निकालने के लिए ग्राहक को जो एटीएम कार्ड दिया जाता है उसके द्वारा ऑनलाइन पेमेंट किया जा सकता है। इसके अलावा एटीएम मशीन से ही आप किसी के खाते में पैसा भेज भी सकते हैं।

एटीएम कार्ड से आजकल इंटरनेट बैंकिंग का सेवा उपलब्ध होता है। आज आपको बैंक में जाकर के इंटरनेट बैंकिंग की सेवा नहीं लेनी पड़ती बल्कि यदि आपके पास एटीएम कार्ड मौजूद है तो आप उसी से अपना नेट बैंकिंग चालू कर सकते हैं।

इसके अलावा मनी ट्रांसफर, मोबाइल रिचार्ज, मनी डिपॉजिट, ऑनलाइन शॉपिंग जैसे कार्य एटीएम कार्ड द्वारा किया जाता है। यह भी पढ़ें- गाड़ी खरीदने के लिए कौन सा दिन अच्छा होता है? जानिए शुभ दिन