Benefits of Soyabean: सोयाबीन खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं?

सोयाबीन के फायदे ( Benefits of Soyabean ) के बारे में बात करें तो यह कैंसर में भी लाभदायक होता है। सोयाबीन का सेवन करने से स्तन और गर्भाशय से संबंधित कैंसर से बचाव में मदद मिल सकती है।

0
7
Benefits of Soyabean
Benefits of Soyabean

Benefits of Soyabean – सोयाबीन का उपयोग हमलोग खाने में जरूर करते हैं। अब सवाल यह है कि आखिर सोयाबीन से हमें क्या-क्या फायदे मिलते हैं। सोयाबीन में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। प्रोटीन की भरपूर मात्रा होने की वजह से सोयाबीन का सेवन शारीरिक विकास में सहायक होता है। सोयाबीन के कई फायदे हैं। आज इस आर्टिकल में जानेंगे कि सोयाबीन खाने से हमें क्या-क्या लाभ मिलता है?

Benefits of Soyabean – सोयाबीन के फायदे

बालों के लिए फायदेमंद

सोयाबीन का सेवन बालों के लिए काफी फायदेमंद होता है। सोयाबीन के बीज में फाइबर, विटामिन बी, विटामिन सी और अन्य तरह के मिनरल्स पाए जाते हैं। यह सभी तत्व हमारे बालों के विकास और मजबूती के लिए मददगार होते हैं। सोयाबीन में आयरन की मात्रा बालों को झड़ने से रोकने में मदद करता है।

त्वचा को रखे खिला-खिला

त्वचा के लिए भी सोयाबीन काफी फायदेमंद होता है। सोयाबीन के बीज में एंटी इन्फ्लेमेटरी और कॉलेजन के गुण पाए जाते हैं। यह तत्व मिलकर त्वचा को हमेशा जवां और खिला-खिला रखते हैं। सोयाबीन में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट हमारी त्वचा को अल्ट्रावायलेट किरणों से बचाने में मदद करता है।

नींद बढ़ाने में सहायक

सोयाबीन का सेवन करने से हमें अच्छी नींद आती है। सोयाबीन में मौजूद एस्ट्रोजन नींद की अवधि में बढ़ोतरी करता है। एक रिसर्च के अनुसार, सोयाबीन का सेवन करने से नींद पूरी करने में मदद मिलता है और इससे अवसाद की समस्या भी दूर होती है। See This: लीवर खराब होने के इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज, आज ही जानें

यह भी पढ़ें -   गर्म पानी पीने के इन फायदे से अनजान होंगे आप, जरूर जानें

महिलाओं के माहवारी में सहायक

सोयाबीन का सेवन करने से शरीर में एस्ट्रोजन हार्मोन के निर्माण में वृद्धि होती है। इसका नियमित सेवन से मासिक धर्म नियमित रूप से आते हैं। हालांकि इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि किसी भी चीज का सेवन जरूरत से ज्यादा नहीं करना चाहिए। एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, जो महिलाएं अधिक मात्रा में सोयाबीन का सेवन करती हैं, उन्हें डिसमेनोरिया (गर्भाशय में असहनीय दर्द होना) से जल्द राहत मिलता है।

रक्तचाप को नियंत्रित करने में सहायक

सोयाबीन का सेवन करने से रक्तचाप को नियंत्रित किया जा सकता है। सोयाबीन में मौजूद प्रोटीन से बने सप्लीमेंट्स रक्तचाप को नियंत्रित करता है। इस बात की पुष्टि एक वैज्ञानिक अध्ययन में भी हो चुकी है। जिन लोगों को रक्तचाप की समस्या है, वह सोयाबीन का सेवन कर बहुत हद तक रक्तचाप की समस्या से राहत पा सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   ठंडे पानी से नहाने के फायदे होते हैं जबरदस्त, जान जाएंगे तो रोज नहाएंगे

कोलेस्ट्रोल करे नियंत्रित

सोयाबीन का सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित होता है। सोयाबीन के बीज में आससोफ्लेवोंस पाया जाता है जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने का काम करता है। सोयाबीन का सेवन करने से खराब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा शरीर में कम होती है।

कैंसर में लाभदायक

सोयाबीन के फायदे ( Benefits of Soyabean ) के बारे में बात करें तो यह कैंसर में भी लाभदायक होता है। सोयाबीन में आइसोफ्लेवोन्स पाया जाता है। इसके अलावा इसमें फाइटोकेमिकल्स के समूह भी मौजूद होता है। यह दोनों तत्व एक anti-cancer के रूप में शरीर में अपना असर दिखाते हैं। सोयाबीन का सेवन करने से स्तन और गर्भाशय से संबंधित कैंसर से बचाव में मदद मिल सकती है।

वजन घटान में मददगार

एक वैज्ञानिक शोध से यह पता चला है कि सोयाबीन का सेवन करने से शरीर का वजन घटाने में भी मदद मिलता है। सोयाबीन में प्रोटीन पाया जाता है जो शरीर को ज्यादा एनर्जी प्रदान करती है। हालांकि सोयाबीन का सेवन करने के साथ-साथ शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखने के लिए व्यायाम करना भी बहुत जरूरी है।

हृदय के लिए फायदेमंद

सोयाबीन का सेवन करना हृदय के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं जो सूजन और हृदय रोग को रोकने में मदद करते हैं। इसका सेवन रक्त संचार को प्रभावित करता है और नियमित सेवन से हृदय संबंधी रोग दूर रहता है।

यह भी पढ़ें -   दूध में इस चीज को मिलाकर खाने से बढ़ती है ताकत, मर्दों के लिए है विशेष फायदेमंद

हड्डियों के लिए फायदेमंद

सोयाबीन का सेवन करने से हमारी हड्डियां मजबूत होती है। सोयाबीन एस्ट्रोजन हार्मोन का एक प्रमुख स्रोत है। यह हरमन हड्डियों की सुरक्षा में काफी सहायक होता है। इसके अलावा इसमें फाइटोएस्ट्रोजेन्स मौजूद होता है जो हड्डियों को कमजोर होने से बचाता है।

मधुमेह के लिए फायदेमंद

कई बार हम लोग शुगर युक्त खाद पदार्थ का सेवन करते हैं जिससे हमारे शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसा होने पर मधुमेह की समस्या का सामना करना पड़ता है। सोयाबीन में कार्बोहाइड्रेट और वसा की मात्रा कम होती है। इसलिए मधुमेह की बीमारी होने की स्थिति में सोयाबीन का सेवन लाभकारी सिद्ध हो सकता है। इसमें पाए जाने वाले प्रोटीन ग्लूकोज को नियंत्रित करने का काम करता है।

सोयाबीन का सेवन करने से शरीर में इंसुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है। कार्बोहाइड्रेट और वसा की मात्रा होने की वजह से मधुमेह के मरीज के लिए सोयाबीन का सेवन उत्तम माना जाता है।