WHO ने दी चेतावनी, बेहद खतरनाक है कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट

0
4
कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट

कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन को लेकर पूरी दुनिया में हहाकार मच गया है। इसको देखते हुए केंद्र सरकार ने इंटरनेशनल पैसेंजर्स के लिए नई गाइडलाइंस जारी की है। यह नियम एक दिसंबर से लागू हो जाएगा।

केंद्र सरकार के नए नियम के मुताबिक, किसी भी इंटरनेशनल डेस्टिनेशन से भारत आने वाले यात्रियों से उनकी पिछले 14 दिन की ट्रैवल हिस्ट्री का रिकॉर्ड मांगा जाएगा। यात्रियों को अपनी यात्रा हिस्ट्री बतानी होगी और इसकी संपूर्ण जानकारी देनी होगी।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोविड वेरिएंट ओमीक्रोन से जुड़े खतरे को बहुत ही ज्यादा खतरनाक बताया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि यह कितना संक्रामक और खतरनाक स्ट्रन है, इसको लेकर अनिश्चितता बनी हुई है।

यह भी पढ़ें -   बिहार में कोरोना से 9 लोगों की मौत, कुल आंकड़ा पहुंचा 610

ओमिक्रोन से मुकाबला के लिए टीके की तैयारी

एस्ट्राजेनेका, मॉडर्ना, नोवावैक्स और फाइजर सहित तमाम दवा कंपनियों ने कहा कि ओमिक्रोन के सामने आने के बाद वे अपने टीके को उसका मुकाबला करने के लिए परिवर्तित करने का प्रयास कर रहे हैं और ये टीके 100 दिन में तैयार होने की उम्मीद है।

भारत में दक्षिणी राज्य कर्नाटक में राज्य सरकार ने सोमवार को अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए दिशानिर्देशों को जारी किया है। स्वास्थ्य विभाग ने घोषणा कि है कि जोखिम वाले 12 देशों से आने वाले यात्रियों के आगमन पर आरटी-पीसीआर परीक्षण किया जाएगा, इसके साथ ही अंतरराष्ट्रीय यात्रियों का सात दिनों के लिए होम आइसोलेशन अनिवार्य किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें -   बेगुसराय के तेघड़ा प्रखंड में जिला का सबसे पहला प्रखंड स्तरीय बाल संरक्षण समिति गठन

बता दें कि भारत में दूसरी लहर के दौरान कोरोना का डेल्टा वेरिएंट ने काफी तबाही मचाई थी। भारत में कोरोना के उस काल में ऑक्सीजन सिलेंडरों की भारी किल्लत हो गई थी। अस्पतालों में जगह की कमी हो गई थी। भारत में स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई थी। हालांकि केंद्र सरकार ने अथक प्रयास से इसपर काफी हद तक काबू पा लिया गया और भारत में कोरोना का संक्रमण धीरे-धीरे नियंत्रण में आ गया।