Patna news – पटना में भूकंप के झटके, दहशत में लोग घरों से निकले बाहर

0
341
पटना में भूकंप
पटना में भूकंप

पटना। Patna News – बिहार की राजधानी पटना में सोमवार रात भूकंप के तीव्र झटके महसूस किये गए। भूकंप के बाद राजधानी पटना के अलग-अलग इलाकों में लोग घरों से बाहर निकल आए। लोगों के अंदर दहशत का माहौल था। हालांकि भूकंप की तीव्रता ज्यादा तेज नहीं थी। नालंदा में भूकंप की तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.5 मापी गई।

नेशनल सेंटर फॉर सिस्मोलॉजी के अनुसार, सोमवार रात के आए भूकंप की तीव्रता नालंदा के निकट 3.5 थी। भूकंप का केंद्र Nalanda, Bihar, India से 20 किलोमीटर उत्तर-पश्चिम में था। भारतीय समयानुसार पटना में भूकंप रात के 9 बजकर 23 मिनट पर आया और भूकंप की गहराई सतह से 5 किमी अंदर था।

यह भी पढ़ें -   WHO ने दी चेतावनी, बेहद खतरनाक है कोरोना का ओमीक्रोन वेरिएंट

लोगों के अनुसार, पटना में भूकंप के दौरान लोगों अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए। लोगों ने कहा कि भूकंप करीब 2 से 2.5 सेकेंड तक महसूस किए गए।

भूकंप आने पर क्या करें?

जब भी कभी भूकंप आए तो हमें कुछ सावधानियाँ रखनी चाहिए। कई बार लोग जल्दबाजी में ज्यादा नुकसान कर लेते हैं। लेकिन सावधानी से बहुत लोगों की जान बचाई जा सकती है।

1. अगर भूकंप आए तो दहशत में आने के बजाय तुरंत ही घर के फर्श पर बैठ जाएं।

2. घर में यदि कोई मजबूत टेबल या फर्नीचर है तो उसके अंदर छिप जाएं और अपने चेहरे और सिर को हाथ से ढंक लें। ध्यान रखें फर्नीचर या टेबल मजबूत हो।

यह भी पढ़ें -   नीतीश कुमार पर टिप्पणी रिया चक्रवर्ती को पड़ा भारी, डीजीपी ने याद दिलाई 'औकात'

3. भूकंप के झटके आने तक घर के अंदर हैं तो वहीं कहीं छुप रहें। उस दौरान बाहर निकलने की कोशिश न करें। झटके रूकने के बाद ही घर से बाहर निकलें।

4. भूकंप अगर रात में आए तो आप बिस्तर पर लेटे हैं तो लेटे रहें और तकिए से सिर ढक लें।

5. भूकंप के दौरान अपने घरों की सभी बिजली उपकरण को बंद कर दें। हो सके तो मेन लाइन को ही ऑफ कर दें।

6. अगर भूकंप के दौरान आप मलबे के अंदर दब जाएं तो कोशिश करें की रुमाल या कपड़े से अपने मुह को ढंक लें।

यह भी पढ़ें -   लालू प्रसाद यादव पर बढ़ा कोरोना का खतरा, सुरक्षा में तैनात 9 कर्मी निकले पॉजिटिव

7. मलबे के अंदर अपनी मौजूदगी बताने के लिए हमेशा पाइप या दीवार को बजाते रहें, ताकि बचावकर्मी को आपका पता चल सके।

8. अगर आपके पास कोई उपाय ना हो तो हिम्मत ना हारें, चिल्लाते रहें।