Bihar News: छपरा में बारिश का कहर, ठनका गिरने से 5 लोगों की मौत

0
43
ठनका गिरने से मौत
ठनका गिरने से मौत

Bihar News: बिहार में बारिश का कहर जारी है। लगातार कई इलाकों में भारी बारिश और ठनका गिरने की घटना हो रही है। ठनका गिरने से मौत की घटनाएं लगातार हो रही हैं। छपरा में बारिश और ठनका की वजह से 5 लोगों की मौत हो गई है। छपरा के दो अलग-अलग जगहों से इस प्रकार की घटनाएं सामने आई हैं।

छपरा में हुई इस घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। बता दें कि बिहार में लगातार कई जिलों में भारी बारिश हो रही है। मानसून के बाद से ही राज्य के कई जिलों में वज्रपात की घटनाएं अक्सर सामने आती रहती हैं।

यह भी पढ़ें -   स्वराज और हिंदी विषय पर आलेख प्रतियोगिता का होगा आयोजन, विजेता को मिलेगा 5100 रुपए का इनाम

छपरा में दो अलग-अलग जगहों पर ठनका गिरने से 5 लोगों की मौत हो गई है। घटना के बाद घटनास्थल पर लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। मृतकों के परिजनों का बुरा हाल है। घटना के बाद ग्रामीणों ने ही पुलिस को इसकी सूचना दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बता दें कि बिहार में वज्रपात से होने वाली मौत यह कोई पहली मौत नहीं है। हर वर्ष मानसून के समय बिहार में भारी बारिश की वजह से कई लोग बेघर हो जाते हैं। बारिश से बेघर होने के साथ-साथ वज्रपात की घटनाओं से भी कई लोगों की मौत हो जाती है।

यह भी पढ़ें -   कोरोना जांच में तेजी के लिए बिहार स्वास्थ्य विभाग ने खरीदा 15 लाख से अधिक किट

ठनका गिरने पर क्या करें?

  1. सबसे जरूरी बात है कि यदि बारिश का मौसम हो तो कोशिश करें कि जरूरी काम होने पर ही घर से निकले।
  2. ठनका गिरने की स्थिति में हमेशा मजबूत दीवार के आसपास छुपने की कोशिश करें।
  3. भूलकर भी कभी भी पेड़ के नीचे नहीं छुपना चाहिए। पेड़ के आसपास ठनका गिरने की संभावना अधिक होती है।
  4. बिजली के खंभों के आसपास भी बारिश के मौसम में नहीं रुकना चाहिए। बिजली और टावर के स्थान पर ठनका गिरने की संभावना अधिक होती है।
  5. बारिश में मोबाइल का उपयोग बंद कर देना चाहिए। मोबाइल का उपयोग से अकाशीय बिजली के गिरने की संभावना अधिक होती है।
यह भी पढ़ें -   RJD संसदीय बोर्ड में हुआ फैसला, पहले चरण में 41 उम्मीदवारों के नाम तय