Raghuvansh Prasad Singh: नहीं रहे रघुवंश प्रसाद, दिल्ली एम्स में ली अंतिम सांस

0
21
Raghuvansh Prasad Singh
Raghuvansh Prasad Singh

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री और हाल ही में राजद (RJD) से इस्तीफा देने वाले रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) का दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (Delhi AIIMS) में निधन हो गया। उनके निधन से बिहार (Bihar) में शोक की लहर है। बता दें कि निधन से कुछ दिन पहले ही उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल से इस्तीफा दिया था।

उनका पार्थिव शरीर देर शाम तक पटना लाया जाएगा। सोमवार को वैशाली में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। रघुवंश प्रसाद सिंह 74 वर्ष के थे। निधन से दो दिन पहले ही रघुवंश प्रसाद सिंह की हालत बिगड़ गई थी। जिसके बाद उन्हें दिल्ली एम्स (Delhi AIIMS) के आईसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया था।

यह भी पढ़ें -   संस्कार भारती, बिहार द्वारा "स्वतंत्रता संग्राम में बिहार की पत्रकारिता और साहित्य" विषय पर ई-परिचर्चा अयोजित

दिल्ली में एम्स अस्पताल में रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) ने रविवार सुबह अंतिम सांस ली। उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। इससे पहले कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उनका इलाज पटना एम्स में किया गया था। इसके उन्हें पोस्ट कोविड मर्ज के इलाज के लिए दिल्ली एम्स में भर्ती किया गया था।

जीवन के अंतिम दौर में आरजेडी से मोहभंग

रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) लंबे समय तक आरजेडी से जुड़े रहे थे। वे लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) के सबसे करीबी थे। उन्होंने लालू यादव को लेटर लिखा था। उन्होंने लेटर में पार्टी तथा पार्टी के तमाम पदों से इस्तीफा देने का जिक्र किया था। आरजेडी की तरफ से उन्हें मनाने की कोशिशें चल रही थी। इसी बीच वे बीमार पड़ गए।

यह भी पढ़ें -   महिला टीचर ने लिखा पीएम मोदी को पत्र, विधायक संजीव चौरसिया पर गंभीर आरोप

आरजेडी में रामा सिंह की एंट्री से थे नाराज

रघुवंश प्रसाद ने 10 सितंबर को दिल्ली एम्स से ही पार्टी से इस्तीफा दे दिया था। हालांकि उनके इस्तीफे को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने स्वीकार नहीं किया। वे पार्टी में अपने विरोधी रामा सिंह (Rama Singh) की एंट्री की कोशिशों के नाराज थे। बताया जा रहा है कि रघुवंश प्रसाद पार्टी में अपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों की एंट्री से नाराज थे।