एस आर इंजीनियर कम्पनी ने समर्थ नारी समर्थ भारत को सिलाई प्रशिक्षण के लिए मशीन उपलब्ध कराया

स्थापना समारोह संगोष्ठी व होली मिलन समारोह में उपस्थित महिलाओ को सम्बोधित करते हुए समर्थ नारी समर्थ भारत की राष्ट्रीय सह संयोजिका माया श्रीवास्तव ने राष्ट्रीय स्तर पर संस्था के द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि महिलाएं ही समाज की धरोहर है। उन्हें हम सम्मान देकर ही इतिहास बना सकते हैं।

0
76
समर्थ नारी समर्थ भारत सिलाई प्रशिक्षण

समर्थ नारी समर्थ भारत के स्थापना दिवस पर संस्था की ओर से महिलाओ के उत्थान पर संगोष्ठी व होली मिलन समारोह का आयोजन संस्था के कार्यालय पुनाईचक में पुष्पा पाठक की अध्यक्षता और पुष्पा कुमारी के संचालन में सम्पन्न हुआ।

स्थापना समारोह संगोष्ठी व होली मिलन समारोह में उपस्थित महिलाओ को सम्बोधित करते हुए समर्थ नारी समर्थ भारत की राष्ट्रीय सह संयोजिका माया श्रीवास्तव ने राष्ट्रीय स्तर पर संस्था के द्वारा किए जा रहे कार्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा कि महिलाएं ही समाज की धरोहर है। उन्हें हम सम्मान देकर ही इतिहास बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें -   बिहार में योजनाओं की बहार, सीएम नीतीश करेंगे 5024 करोड़ की योजनाओं का शुभारंभ

उन्होंने कहा कि महिलाओं को संगठित कर उनके अधिकार की रक्षा के लिय हमसब एकजुट होकर आगे आकर उनके सम्मान को बरकरार रखने की चुनौती हम महिलाओं के उपर है, जिसे बरकरार रखने की जरुरत है। राम और कृष्ण के काल से ही महिलाएं सशक्त होकर विश्व में संदेश देती रही है। इसी का परिणाम है कि आज भी राष्ट्र की आधी आबादी साहित्य, सांस्कृतिक, राजनीतिक, समाजसेवा, शिक्षा, व्यवसाय, सेना समेत सभी क्षेत्रों में स्थापित कर पूरी दुनिया को अपना लोहा मनवा चुकी हैं।

अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए संघर्ष और त्याग के दिशा में भी महिलाएं आगे हैं। आज भारतीय संस्कृति में महिलाएं हर समय पूजनीय है। हमें महिलाओं के साथ घट रही घटनाओं व समाज में टूट रहे परिवार को बचाने में हम महिलाओं को हर हाल में आगे आकर सड़क तक संघर्ष तेज करने की जरूरत है।

यह भी पढ़ें -   विधानसभा चुनाव 2020 -चुनाव नतीजों पर आने लगा दिग्गजों का बयान

इस अवसर पर माहिलाओं ने आपस मे रंग गुलाल खेलकर और होली के गीत गाकर एक दूसरे को होली की शुभकामनाएं दी। होली को आपसी एकता का मिशाल बताते हुए रंग अबीर का महान पर्व बताया। डॉ अनिता, मीना श्रीवास्तव, नीलम राज, अनीता कुमारी, बबिता गुप्ता, स्मिता सिन्हा, किरण ठाकुर, नूतन सिन्हा पटेल, रश्मि देवी, सविता देवी, मोनिका प्रसाद, रुक्मिणी देवी, क्रांति ठाकुर, अनिता सिंह, वीणा देवी, शारदा देवी, अंजलि ठाकुर, पूजा तिवारी, संगीता बनर्जी, विमला देवी, चांदनी कुमारी, कुमारी पिंकी वर्मा, मिनी सिन्हा, सीता देवी, रीना सिंह, सिनी सिन्हा, सविता सिंह, सबिता आदि मौजूद थीं।

यह भी पढ़ें -   Nitish Kumar ने दी बिहार वासियों को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएँ