बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम, नीतीश कुमार फिर बनेंगे सीएम, तेजस्वी होंगे डिप्टी सीएम

बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम एक बार फिर से सुर्खियों में है। आज नीतीश कुमार फिर से एक बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। कई सालों के साथ रहे बीजेपी और जेडीयू अब अलग हो चुके हैं और नीतीश कुमार राष्ट्रीय जनता दल के सहयोग से फिर से सरकार बना रहे हैं।

0
105
बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम
Nitish Kumar and Tejashwi Yadav

Bihar News – बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम एक बार फिर से सुर्खियों में है। आज नीतीश कुमार फिर से एक बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। कई सालों के साथ रहे बीजेपी और जेडीयू अब अलग हो चुके हैं और नीतीश कुमार राष्ट्रीय जनता दल के सहयोग से फिर से सरकार बना रहे हैं। बीते मंगलवार को नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया था।

नीतीश कुमार के साथ तेजस्वी यादव बिहार के उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। नई सरकार की तरफ से आज केवल मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री शपथ लेंगे। सरकार में शामिल होने वाले बाकी मंत्रियों का शपथ ग्रहण 1 से 2 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। बिहार का ताजा राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए बीजेपी नीतीश कुमार पर हमलावर हो गई है।

यह भी पढ़ें -   पप्पू यादव का ऑपरेशन एम्बुलेंस - अब छपरा के बाद दरभंगा में किया नया खुलासा

बताया जा रहा है कि 12 अगस्त को कैबिनेट के बाकी मंत्रियों का शपथ ग्रहण हो सकता है। बिहार में आज दोपहर 2:00 बजे राज भवन स्थित राजेंद्र मंडपम में शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जाएगा। ऐसा पहली बार नहीं है जब नीतीश कुमार ने बीजेपी का साथ छोड़कर राजद के साथ सरकार बनाई है। इससे पहले विधानसभा चुनाव में जदयू और राजद ने मिलकर चुनाव लड़ा था और सरकार बनाई थी।

लेकिन अचानक नीतीश कुमार राष्ट्रीय जनता दल का साथ छोड़कर बीजेपी के साथ आ गए थे और बीजेपी के सहयोग से बिहार में एनडीए की सरकार चल रही थी। हालांकि एक बार फिर से नीतीश कुमार राष्ट्रीय जनता दल के साथ मिलकर सरकार बना रहे हैं। बीजेपी ने इसे अपने साथ धोखा करार दिया है। खबर है कि आज बीजेपी के तरफ से बिहार के ताजा राजनीतिक घटनाक्रम को देखते हुए धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

अभी फिलहाल नीतीश कुमार कार्यवाहक मुख्यमंत्री के रूप में काम कर रहे हैं। आज शपथ ग्रहण समारोह होने के बाद वह फिर से बिहार के मुख्यमंत्री बनेंगे। अभी फिलहाल नहीं सरकार में कौन-कौन लोग मंत्री बनेंगे यह निश्चित नहीं हो पाया है। हालांकि ऐसी संभावना है कि दोनों दलों के नेता मिलकर फाइनल लिस्ट तैयार करेंगे। कांग्रेस भी बिहार सरकार में शामिल होने वाली है।