अनंत सिंह को RJD ने दिया टिकट, मोकामा में जदयू प्रत्याशी से होगा मुकाबला

0
16
विधायक अनंत सिंह
विधायक अनंत सिंह

पटना। बिहार की सियासत में एक खलबली मच गई है। जेल में बंद विधायक अनंत सिंह को राजद ने अपना सिंबल दे दिया है। राष्ट्रीय जनता दल ने मोकामा से अनंत सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है। वे निर्दलीय विधायक हैं। वे इस वक्त पटना के बेऊर जेल में बंद हैं। देर रात को अनंत सिंह को सिंबल दिया गया। बताया जा रहा है कि निर्दलीय विधायक अनंत सिंह कल अपना नामांकन भरेंगे।

लालू यादव ने पुटूश हत्याकांड में जिम्मेदार बताया था

अनंत सिंह को नामांकन के लिए कोर्ट से मंजूरी मिल गई है। खबर है कि वह सुबह 11 बजे नामाकंन करेंगे। बता दें कि 2015 के विधानसभा चुनाव में अनंत सिंह के खिलाफ लालू प्रसाद यादव ने चुनाव प्रचार किया था। लालू यादव ने पुटूश हत्याकांड में अनंत सिंह को जिम्मेदार बताया था।

यह भी पढ़ें -   भाजपा कार्यसमिति का दावा, कहा- गरीबों की झोपड़ी तक पहुंचा विकास

राजद का सिंबल मिलने से पहले ही अनंत सिंह ने नीतीश कुमार के खिलाफ चुनावी अखाड़े में उतरने का फैसला कर लिया था। मोकामा सीट जदयू के खाते में है। इस बार जदयू ने साफ शब्दों में कहा है कि वह किसी भी दागी उम्मीदवार को टिकट नहीं देगी।

बता दें कि राजद से चुनाव लड़ने का ऐलान अनंत सिंह ने पहले कर दिया था जब वे कोर्ट में पेशी के लिए बेउर जेल से बाहर आए थे। उन्होंने उसी वक्त कहा था कि वह लालू यादव की पार्टी से चुनाव लड़ेंगे।

यह भी पढ़ें -   बिहार चुनाव से पहले 10 IAS अधिकारियों का तबादला, पटना सदर SDO भी ट्रांसफर

जदयू की बढ़ी बेचैनी

मोकामा से अनंत सिंह को टिकट मिलने के बाद जदयू की बेचैनी बढ़ गई है। यह सीट भाजपा-जदयू के गठबंधन में जदयू के खाते में है। पटना जिले की बात करें तो जदयू के खाते में पटना का तीन विधानसभा सीट है। मोकामा, पुलवारी, मसौढ़ी और पालीगंज सीट पटना जिले से जदयू के खाते में है।

उधर एनडीए की सहयोगी दल लोजपा पहले ही ऐलान कर चुकी है कि वह नीतीश कुमार के नेतृत्व में चुनाव नहीं लड़ेगी। लोजपा अब बीजेपी विधायकों को चुन-चुनकर टिकट थमा रही है। इससे पहले लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने तेजस्वी यादव को अपना छोटा भाई भी बताया था।

यह भी पढ़ें -   जीतन राम मांझी ने लालू यादव को बताया दलित विरोधी, मिला ऐसा जवाब