बिहार में जयदू-राजद फिर आए साथ, जानिए इसपर तेजस्वी यादव ने क्या कहा?

Bihar News- बिहार में जदयू और राजद एक बार फिर से सरकार बनाने वाले हैं। हालांकि इस बार जदयू राजद के साथ-साथ कांग्रेस और अन्य कुछ दल भी शामिल होकर महा गठबंधन की सरकार बना रहे हैं।

0
120
बिहार में जयदू और राजद
नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव

Bihar News- बिहार में जदयू और राजद एक बार फिर से सरकार बनाने वाले हैं। हालांकि इस बार जदयू राजद के साथ-साथ कांग्रेस और अन्य कुछ दल भी शामिल होकर महा गठबंधन की सरकार बना रहे हैं। बिहार में एक बार फिर से महागठबंधन की सरकार बनने वाली है और नीतीश कुमार आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले हैं। इसके साथ-साथ राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव भी उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे।

बिहार में इस ताजा राजनीतिक घटनाक्रम के बाद राष्ट्रीय जनता दल के नेता और बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का भी बयान सामने आया है। उन्होंने नीतीश कुमार की तारीफ की और कहा कि एक बार फिर से महागठबंधन की सरकार देश और बिहार के विकास के लिए कार्य करेगी।

यह भी पढ़ें -   जीतनराम मांझी की पार्टी हम ने BJP से कहा- केंद्रीय NDA से करे LJP को बाहर

हाल के घटनाक्रम के बाद तेजस्वी यादव का भी बयान सामने आया है। उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट करते हुए लिखा, ‘बिहार के हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के चलते आज सुबह राष्ट्रीय जनता दल की विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी। बैठक में बाद में कांग्रेस, सीपीआई माले, सीपीआई एम और सीपीआई के तमाम माननीय विधायक भी उपस्थित थे। बैठक में महागठबंधन के सभी दलों ने सर्वसम्मति से हमें देशहित, बिहार हित और लोकतंत्र हित में निर्णय लेने के लिए हमें अधिकृत किया।’

उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी इस्तीफा देने के तुरंत बाद आवास पर महागठबंधन की बैठक में पहुँचे और वहाँ उपस्थित सभी विधायकों को संबोधित किया। श्री नीतीश कुमार जी ने सभी साथियों के एकत्रित होने और देश और बिहार के लिए उनकी आगे की सोच के बारे में विस्तार से सबको अवगत करवाया।’

तेजस्वी यादव ने आगे कहा, ‘मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार जी की अगुवाई में सभी विधायक मुख्यमंत्री आवास 1, अन्ने मार्ग गए जहाँ जनता दल यूनाइटेड के माननीय विधायकों द्वारा महागठबंधन के सभी वरिष्ठ नेताओं और विधायकों का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। आपस में विचार-विमर्श कर गठबंधन के सभी सहयोगी राज्यपाल महोदय से मिलने राजभवन पहुँचे और सरकार बनाने का दावा पेश किया।’