नीतीश कुमार पर बीजेपी ने लगाया झूठ बोलने का आरोप, गठबंधन तोड़ने का ढूंढ रहे थे बहाना

Bihar News- बिहार में हुए हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के बीच बीजेपी का बयान सामने आया है। महागठबंधन के साथ नीतीश कुमार के जाने के बाद बीजेपी ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

0
77
नीतीश कुमार पर बीजेपी
नीतीश कुमार और सुशील कुमार मोदी

Bihar News- बिहार में हुए हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के बीच बीजेपी का बयान सामने आया है। महागठबंधन के साथ नीतीश कुमार के जाने के बाद बीजेपी ने उन पर गंभीर आरोप लगाए हैं। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार सफेद झूठ बोलते हैं और वह पहले से ही गठबंधन तोड़ने का बहाना खोज रहे थे।

बता दें कि नीतीश कुमार बुधवार को आठवीं बार बिहार के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। मंगलवार को उन्होंने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इससे पहले नीतीश कुमार बीजेपी के साथ मिलकर एनडीए की सरकार चला रहे थे। लेकिन हाल के दिनों में बीजेपी और जदयू के बीच खटास की खबरें आई थी। बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार बीजेपी से नाराज चल रहे थे।

यह भी पढ़ें -   Budget 2021 पर बोले तेजस्वी, यह बजट सरकारी संपत्तियों को बेचने की सेल

दरअसल पिछले दिनों आरसीपी प्रकरण को लेकर बीजेपी और जदयू के बीच खींचातानी चल रहा था। जदयू ने इस मुद्दे पर बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए थे। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा था कि बीजेपी ने नीतीश कुमार की सहमति के बिना आरसीपी सिंह को मंत्री बनाया था। इसके साथ साथ जदयू का यह भी आरोप था कि बीजेपी जदयू को तोड़ने की कोशिश में लगी हुई थी।

इस पर सुशील कुमार ने जवाब देते हुए नीतीश कुमार पर हमला बोला और कहा यह सरासर सफेद झूठ है कि बीजेपी ने बिना नीतीश कुमार की सहमति के आरसीपी सिंह को मंत्री बनाया था। उन्होंने कहा कि यह भी झूठ है कि बीजेपी जदयू को तोड़ना चाह रही थी। सुशील कुमार मोदी ने कहा कि बिहार में 2024 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाएगी। पढ़ें- बिहार का राजनीतिक घटनाक्रम, नीतीश कुमार फिर बनेंगे सीएम, तेजस्वी होंगे डिप्टी सीएम

बता दें कि बीजेपी से नाता तोड़ने के बाद नीतीश कुमार आरजेडी और अन्य दलों के सहयोग से महागठबंधन की सरकार बना रहे हैं। इस सरकार में नीतीश कुमार मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे और तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम के तौर पर। बिहार में बन रहे नए सरकार में कांग्रेस में शामिल होगी। ऐसा अंदेशा जताया जा रहा है कि कांग्रेस की तरफ से भी मंत्री पद लिया जा सकता है।

बता दें कि मंगलवार को नीतीश कुमार ने बीजेपी से नाता तोड़ते हुए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल के नेताओं के साथ मिलकर राजभवन पहुंचे और वहां पर सरकार बनाने का दावा पेश किया। इसके बाद राज्यपाल ने उन्हें आज का समय दिया।

इस घटनाक्रम पर तेजस्वी यादव का भी बयान सामने आया था। उन्होंने कहा था कि यह देश हित और बिहार हित में लिया गया फैसला है। तेजस्वी यादव ने कहा कि ‘बिहार के हालिया राजनीतिक घटनाक्रम के चलते आज सुबह राष्ट्रीय जनता दल की विधायक दल की बैठक बुलाई गई थी। बैठक में बाद में कांग्रेस, सीपीआई माले, सीपीआई एम और सीपीआई के तमाम माननीय विधायक भी उपस्थित थे। बैठक में महागठबंधन के सभी दलों ने सर्वसम्मति से हमें देशहित, बिहार हित और लोकतंत्र हित में निर्णय लेने के लिए हमें अधिकृत किया।’

उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी इस्तीफा देने के तुरंत बाद आवास पर महागठबंधन की बैठक में पहुँचे और वहाँ उपस्थित सभी विधायकों को संबोधित किया। श्री नीतीश कुमार जी ने सभी साथियों के एकत्रित होने और देश और बिहार के लिए उनकी आगे की सोच के बारे में विस्तार से सबको अवगत करवाया।’