जदयू-लोजपा में आर-पार, सीएम नीतीश को बताया कृपा पर बने मुख्यमंत्री

0
21
जदयू-लोजपा
जदयू-लोजपा आमने-सामने

पटना। बिहार में एक तरफ कोरोना वायरस की वजह से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। दूसरी तरफ बिहार की पार्टियों में घमासान मचा हुआ है। एनडीए की सहयोगी पार्टी जदयू-लोजपा दोनों आर-पार के मूड में आ गई है। लोजपा नेता ने सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि नीतीश कुमार कृपा पर मुख्यमंत्री बने हैं।

बता दें कि जदयू-लोजपा दोनों ही पार्टियां एनडीए में है। लेकिन इसके वाबजूद दोनों पार्टियों में तल्खी लगातार बढ़ रही है। दोनों तरफ से बयानबाजी तेज हो चुकी है। बिहार में लोक जनशक्ति पार्टी बिलकुल जयदू से आर-पार की मूड में है। दोनों पार्टी के नेताओं की ओर से एक दूसरे के ऊपर ताबड़तोड़ जुबानी हमले हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   विधानसभा चुनाव 2020 -चुनाव नतीजों पर आने लगा दिग्गजों का बयान

नीतीश कैबिनेट में मंत्री विजेंदर यादव को एलजेपी नेता अशरफ़ अंसारी ने करारा जवाब देते हुए सीएम नीतीश कुमार के ऊपर हमला बोला। उन्होंने इतना तक कह दिया कि नीतीश कुमार किसी की कृपा पर मुख्यमंत्री बने हुए हैं।

एलजेपी नेता अशरफ़ अंसारी ने कहा कि यह लोग जो खुद कृपा पर मंत्री बने हैं। उनका बोलना अपने मालिकों के लिए जायज़ है। यह लोग प्रधानमंत्री का अनादर करते हैं। बिहारीयों को लगातार मार रहे हैं। कोई सच बोले तो यह लोग वफ़ादारी दिखाने में कंपटीशन करते हैं। ललन बाबू से इनको ज़्यादा अंक चाहिए।

यह भी पढ़ें -   बिहार चुनाव - अकेले चुनाव मैदान में उतरेगी लोजपा, नीतीश का नेतृत्व स्वीकार नहीं

बता दें कि हाल ही में बिहार के उद्योग मंत्री श्याम रजक को जदयू ने बाहर का रास्ता दिखा दिया था। श्याम रजक पिछले 10 सालों से जदयू में थे। हालांकि वह फिर से अपने पुराने पार्टी राजद में शामिल हो गए। राजद में शामिल होते ही श्याम रजक ने जदयू पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें पार्टी में वफादारी का कोई फायदा नहीं हुआ।

बिहार में सियासी तनातनी के बीच एनडीए के ऊपर हर किसी की नजर बनी हुई है। लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान लगातार सीएम नीतीश की कार्यशैली पर सवाल उठा रहे हैं। बिहार में बाढ़ और कोरोना टेस्टिंग से लेकर राज्य में तेजी से बढ़ती आपराधिक घटनाओं को लेकर चिराग पासवान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेर रहे हैं।

यह भी पढ़ें -   बिहार कांग्रेस देगी युवाओं को मौका, यूथ कांग्रेस के 60वें स्थापना दिवस पर हुई घोषणा