भाजपा से भी बगावत! भाजपा के बागी नेता राजेंद्र सिंह को एलजेपी ने दिया सिंबल

पटना। एनडीए से अलग हो चुके चिराग पासवान ने भाजपा नेता राजेंद्र सिंह को सिंबल दिया है। बीजेपी के सीनियर नेता और प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह अब एलजेपी में शामिल हो गए हैं। राजेंद्र सिंह दिनारा से टिकट नहीं मिलने से बीजेपी से नाराज थे। एलजेपी में शामिल होते ही चिराग पासवान ने दिनारा से चुनाव लड़ने के लिए राजेंद्र सिंह को पार्टी का सिंबल भी दे दिया है।

राजेंद्र सिंह बीजेपी से टिकट कटने के बाद लगातार एलजेपी के संपर्क में थे। खबर है कि वह लगभग एलजेपी में शामिल होने का मन बना चुके थे। राजेंद्र सिंह ने एक हिन्दी वेबसाइट में बातचीत में कहा था कि वह किसी भी हाल में दिनारा से भी चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि सीट बंटवारे में यह सीट जदयू के खाते में चली गई है। जदयू ने यहां से बिहार सरकार में मंत्री जय कुमार सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

यह भी पढ़ें -   राजद प्रमुख लालू यादव की जमानत याचिका पर आज होगा फैसला

2700 वोटों से हार चुके हैं राजेंद्र सिंह

पिछली बार बीजेपी ने राजेंद्र सिंह को टिकट दिया था। दिनारा सीट पर राजेंद्र सिंह खड़े हुए थे। राजेंद्र सिंह और जेडीयू उम्मीदवार जय कुमार सिंह के बीच कड़ी टक्कर हुई थी। हालांकि राजेंद्र सिंह 2700 वोटों से जेडीयू उम्मीदवार से चुनाव हार गए थे। लेकिन इस बार के विधानसभा चुनाव में यह सीट जदयू के खाते में चली गई है।

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य रह चुके हैं राजेंद्र सिंह

बता दें कि राजेंद्र सिंह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े रहे हैं। उन्होंने 1983 में आरएसएस को ज्वाइन किया था। सिंह का जन्म बिहार का सासाराम के कोचस के गौरा गांव में हुआ था। सिंह 1989 में राम जन्मभूमि आंदोलन से भी जुड़े रहे थे। बिहार में वर्तमान में वे बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष थे।

यह भी पढ़ें -   पटना डीएम ने पेश किया आंकड़ा, कहा- पटना में जल्द खत्म हो जाएगा कोरोना

एलजेपी अध्यक्ष चिराग पासवान ने नीतीश कुमार के नेतृत्व को नकारते हुए अलग चुनाव लड़ने का फैसला लिया था और पीएम मोदी की तारीफ की थी। लेकिन भाजपा नेता को टिकट देकर चिराग पासवान ने कहीं न कहीं भाजपा को भी नाराज करने का काम किया है। हालांकि बीजेपी की तरफ से इस संबंध में अभी तक कोई बयान नहीं आया है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.