पीरियड में गुरुवार का व्रत करें या नहीं, व्रत करने का फल मिलता है या नहीं

पीरियड में गुरुवार का व्रत करना चाहिए या नहीं, इस बात को लेकर महिलाओं के मन में कई सवाल होते हैं। मान्यता है कि गुरुवार को व्रत करने से भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

0
64
पीरियड में गुरुवार का व्रत करें या नहीं
पीरियड में गुरुवार का व्रत करें या नहीं

पीरियड में गुरुवार का व्रत करना चाहिए या नहीं, इस बात को लेकर महिलाओं के मन में कई सवाल होते हैं। मान्यता है कि बृहस्पतिवार को व्रत करने से भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है। इससे वैवाहिक जीवन में परेशानियाँ दूर होती है। लेकिन पीरियड में महिलाओं को यह व्रत करना चाहिए या नहीं, इस बात को लेकर महिलाएं चिंतित होती हैं। आइए जानते हैं कि पीरियड में गुरुवार का व्रत करना चाहिए या नहीं।

बृहस्पतिवार के व्रत में शुद्धता का ध्यान सबसे अधिक रखा जाता है। ऐसे में यदि पीरियड के समय महिलाएं गुरुवार का व्रत रखती हैं तो इससे व्रत का फल नहीं मिल पाता है। मान्यता है कि पीरियड के दौरान महिलाओं का शरीर अशुद्ध रहता है। इसलिए इस दौरान गुरुवार का व्रत नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें -   शनिवार को लोहा खरीदना क्यों होता है अशुभ, जानें क्या है वजह

पीडियड में बृहस्पतिवार का व्रत के अलावा इस अवधि के दौरान देवी-देवताओं की पूजा भी वर्जित होता है। ऐसे में गुरुवार के व्रत को करने से विशेष ध्यान रखना चाहिए। 

गुरुवार व्रत में इन बातों का रखें ध्यान

  • गुरुवार का व्रत करने वाले को बाल, दाढ़ी, नाखून गलती से भी नहीं काटना चाहिए।
  • गुरुवार के दिन बाल और घर नहीं धोना चाहिए।
  • व्रत के दौरान कचड़ा या कबाड़ घर से बाहर नहीं फेकना चाहिए।
  • गुरुवार व्रत करने वाले को गुरुवार के दिन नमक का सेवन नहीं करना चाहिए।

शीघ्र विवाह के लिए करें यह उपाय

शीघ्र विवाह के लिए गुरुवार का व्रत रखें। सुबह स्नान के बाद सूर्यदेव को हल्दी मिलाकर जल अर्पित करें। इसके बाद हल्दी की माला से बृहस्पति देव का मंत्र ऊँ बृं बृहस्पतये नम: मंत्र का जाप करें।

यह भी पढ़ें -   यदि आपके दीपक में भी बनता है फूल तो जानें इसका असली मतलब?

इसे भी पढ़ सकते हैं…

नोट – यह जानकारी धार्मिक मान्यताओं पर आधारित है। हमारा उद्देश्य केवल जानकारी देना है।